Jet Airways की आखरी उड़ान के बाद 22,000 कर्मचारी बेरोजगार।

0
131

राधाजी न्यूज़। वित्तीय संकट में फंसी जेट एयरवेज ने बुधवार रात से अस्थाई तौर पर अपनी सभी उड़ानों को सस्पेंड करने का फैसला किया क्योंकि कंपनी के पास कैश खत्म हो गया है और बैंकों ने उसे और कर्ज देने से इनकार कर दिया है। 26 साल से अपनी सेवाएं दे रही जेट एयरवेज ने आखिरकार अपनी उड़ाने रोक दी हैं। गौर करने वाली बात है कि जेट ने एक दिन में 650 फ्लाइट्स तक का परिचालन किया है। जेट की उड़ानें रुक जाने के बाद अब कंपनी के 16,000 स्थाई और 6,000 कॉन्ट्रैक्चुअल कर्मचारियों के भविष्य पर सवाल खड़े कर दिए हैं। पिछले एक दशक में किंगफिशर के बाद कामकाज बंद करने वाली जेट दूसरी कंपनी बन गई है। विजय माल्या की किंगफिशर ने साल 2012 में कामकाज बंद किया था।
अब जेट की फ्लाइट्स दोबारा तभी उड़ान भर पाएंगी जबकि कंपनी को एक नया खरीददार मिले जो इसे नए सिरे से शुरू कर सके। जेट ने बुधवार रात अस्थाई तौर पर अपनी सेवाएं बंद करने का ऐलान करते हुए बीएसई की फाइलिंग में लिखा, ‘बैंकों या किसी अन्य जरिये से कोई इमरजेंसी फंडिंग नहीं आ रही है। हमारे पास कामकाज जारी रखने के लिए तेल खरीदने या किसी अन्य सेवा के लिए भुगतान करने लायक पैसा भी नहीं है। इसलिए जेट तुरंत अपनी सारी इंटरनेशनल और डोमेस्टिक फ्लाइट्स बंद करने पर मजबूर हो गई है। आखिरी फ्लाइट बुधवार को उड़ान भरेगी।’

जेट ने मंगलवार के अपनी उड़ानों का परिचालन जारी रखने के लिए एसबीआई की अगुआई वाले कर्जदाताओं से 983 करोड़ रुपये के इमरजेंसी फंड की मांग की थी।
मंगलवार को एयरलाइन के बोर्ड ने कर्जदाताओं से इमर्जेंसी फंड पाने की अंतिम कोशिश के बाद, सीईओ विनय दुबे को कंपनी की उड़ानों का परिचालन बंद करने का फैसला करने की अनुमति दे दी। बुधवार शाम कर्मचारियों को लिखे एक मेल में दुबे ने कहा, ‘कर्जदाताओं से इमर्जेंसी फंडिंग और किसी दूसरे सोर्स से कोई भी फंडिंग न मिलने के चलते कंपनी के लिए अब उड़ानें जारी रखने के लिए ईंधन और दूसरी सेवाओं का भुगतान करना मुश्किल संभव नहीं होगा। परिणामस्वरूप, हम सभी घरेलू और अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को तत्काल प्रभाव से बंद करने पर मजबूर हैं।

दुबे ने अपने कर्मचारियों को सांत्वना दी और बताया, ‘बिक्री की प्रक्रिया में कुछ समय लगेगा और आने वाले समय में हमें कई और चुनौतियों का सामना करना होगा, जिनमें से कई का जवाब हमारे पास आज नहीं है। उदाहरण के लिए, हम अभी इस महत्वपूर्ण सवाल का जवाब नहीं जानते कि ‘बिक्री की प्रक्रिया के दौरान, हम कर्मचारियों का क्या होगा।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

three + three =