मायानगरी में जलवे बिखेरने को तैयार हिमाचल मंडी की ये हसीना।

0
3125

चंडीगढ़, राधाजी न्यूज़, (पुनीत सैनी)। 125 करोड़ से अधिक जनसंख्या वाले हमारे भारत देश में कला व कलाकारों की कोई कमी नहीं आये दिन टीवी पर नए नए नाटक, सीरियल, कॉमेडी शो, बड़े पर्दे कि ख़बरें, फिल्में व अभिनेता, मॉडल्स, एंकर आये दिन हर नया चेहरा सोशल मीडिया या आपकी स्क्रीन पे दस्तक देता है व आपका मनोरंजन करता है। कोई अपनी एक्टिंग से कोई अपने डिज़ाइनर पोशाकों से, कोई अपनी कातिल अदाओं से दर्शकों को अपनी तरफ आकर्षित करता है।  आज हम एक ऐसी ही शख्शियत की बात कर रहें हैं जो अपनी बोल्ड अदाओं से रैंप पर आग लगा देती है और शूट पर कैमरा उन्हें घूर घूर कर देखता है। जी हाँ छूरी जैसे तीखे नैनों वाली हिमाचल प्रदेश की खूबसूरत वादियों में बसे मंडी की रहने वाली प्रियांजली ठाकुर, प्रियांजली मुंबई में बतौर फैशन मॉडल काम कर रही हैं। मायानगरी में आये दिन होने वाले फैशन शो में इनके जलवे देखने को मिलते रहते हैं। राधाजी न्यूज़, मुख्य सम्पादक (पुनीत सैनी) को दिए अपने इंटरव्यू में प्रियांजली ने अपने करियर व जिन्दगी का तजुर्बा साँझा किया। जिसमे इन्होने बताया की इनके करियर कि शुरुआत एक इवेंट मेनेजर व एंकर के तौर पर चंडीगढ़ से हुई थी। मिस ठाकुर एक माध्यम वर्गीय परिवार से सम्बन्ध रखती हैं। ये जब दसवीं में पढ़ती थी जब इनके पिता का देहांत हुआ। उसके बाद प्रियांजली की माता जी बच्चों के साथ चंडीगढ़ शिफ्ट हो गए व वहां आने के बाद परिवार कि पूरी जिम्मेवारी उनकी माता जी पर आ गई व उन्होंने काम काज कर प्रियांजली व भाई बहिन को पढाया-लिखाया। चंडीगढ़ में ही प्रियांजली ने मास्टर डिग्री हासिल की। लेकिन किस्मत को कुछ और ही मंज़ूर था इन्हें बचपन से बनठन कर ग्लेमरस दिखने का जूनून था। पढाई करते करते इन्होने इवेंट व एंकरिंग की शुरुआत की व धीरे धीरे फैशन वीक में इन्हें मौके मिलने शुरू हुए और फिर प्रियांजली उस वक़्त सुर्ख़ियों में बनी जब इनके सर पर शख्शियत मिस नार्थ अर्थ का ताज सजा, उसके बाद मिस ठाकुर ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा और कामयाबी इनके कदम चूमती रही। वर्तमान समय में प्रियांजली मुंबई में रहती हैं और अब इनका रुख बॉलीवुड की तरफ है और जल्द ही प्रियांजली बॉलीवुड में डेब्यू कर सकती हैं आगे नीचे पढ़ें…

प्रियांजली की सामाजिक सोच।  इनका मानना है कि आज हमारा देश आधुनिक हो चूका है इसलिए बेटी को पराया धन कहने कि बजाय उसे बेटों के बराबर समझा जाये। माता-पिता को उसकी ताकत बनना चाहिए व  उसके फैसलों की कद्दर करनी चाहिए।  उसे शिक्षा में उसके काम काज में सहयोग देना चाहिए।

प्रियांजली ने बताया देश को खोखला क्या कर रहा।  शख्शियत मिस नार्थ अर्थ का मानना है कि हमारे देश को जात-बिरादरी व धर्म सम्प्रदाय ये सभी तुच्छ विचार आगे नहीं बढ़ने दे रहे। देश साधनों से तो आधुनिक हो रहा है किन्तु लोगों कि सोच अब भी जात बिरादरी उंच नीच को लेकर वही है जो आज से 50 साल पहले थी। इसलिए सोच बदलने से देश बदलेगा न कि केवल साधन बदलने से। आगे नीचे पढ़ें ….

प्रियांजली का लाइफ स्टाइल। प्रियांजली खुद को एक दम फिट रखती हैं रोजाना वर्क आउट पे रहना सही तरीके के खान पान रखना यही इनकी खूबसूरती का राज है।  ये बताती हैं कि खुद का ख्याल रखना सबसे जरुरी है।  क्यूंकि इंसान सबसे पहले खुद से प्रेम करे फिर सभी से प्रेम करे।  प्रियांजली का मानना है की आज के समय में हर व्यक्ति चिंताओं से घिरा हुआ है और चिंता ही उसकी हर मर्ज का विशेष कारण है।  इसलिए अपने लाइफ स्टाइल को बदलने कि कोशिश हर व्यक्ति को करनी चाहिए।

प्रियांजली की प्रेरणा। इनका कहना है कि अभी तक वे खुद के जीवन से बहुत ज्यादा प्रेरित हुई हैं और वे मायानगरी में ऐसी शक्शियत बनना चाहती हैं कि आने वाली युवा पीढ़ी के लिए प्रेरक प्रसंग बन सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

thirteen − 5 =